Skip to main content

Posts

Showing posts from 2020

One liner gk 3.Who was the first Muslim to study Puranas??

One liner gk 3 upsc pre hunter series One liner gk सीरीज का तीसरा भाग one liner gk 3 आज आपके सामने है।इस भाग में दिए गए प्रश्नों का स्तर आसान है और आरंभ में इन्हें याद करना आवश्यक है। किसी भी परीक्षा के लिए वनलाइनर (oneliner gk) कितना आवश्यक है यह कहने की आवश्यकता नही है।इसी को ध्यान में रखते हुए हम लेकर आये हैं वनलाइनर प्रश्नों की एक पूरी सीरीज।इस सीरीज के प्रत्येक सेट में 10 प्रश्न होंगे।10 इसलिए कि न तो यह बहुत ज्यादा है और न ही बहुत कम।इन प्रश्नों में विभिन्न परीक्षाओं में पूछे जा चुके और संभावित प्रश्नों का समावेश किया गया है। One liner gk question,one liner gk in hindi,one liner gk in hindi pdf,one liner ssc gk,ssc gk questions in hindi प्रश्न सभी विषय के होंगे ताकि एक ही विषय से आपको बोरियत भी महसूस न हो और सभी विषय के प्रश्नों का अभ्यास भी हो जाए।कुछ दिनों में आप खुद महसूस करेंगे कि आपकी gk की समझ बढ़ गयी है। एक बात और ध्यान में रखें कि प्रत्येक विषय के विभिन्न टॉपिक को विस्तार से भी हमने इस वेबसाइट पर कवर किया है।विस्तार से किसी टॉपिक के बारे में जानकारी के लिए आप इस वेबसाइट ww

गदर आंदोलन और कोमागातामारू घटना।(gadar andolan and komagatamaru incident)

Gadar movement Gadar andolan गदर आंदोलन 1914 15 अगस्त 1947 के पहले तक भारत पर अंग्रेजों का शासन था।दूसरे शब्दों में भारत अंग्रेजों का गुलाम था।हम आज जिस भारत मे पूरे स्वतंत्रता के साथ रह रहे हैं ऐसा भारत बनने के पीछे बहुत लंबी कहानी है। पता नही कितने लोगो ने हमारे आज के लिए अपने आपको इस संसार से ही विदा कर दिया।ये अलग बात है कि लोग आज उन्हें याद नही कर पा रहे।कुछ लोग इस बेशकीमती स्वतंत्रता का उपयोग तस्करी में,कुछ लोग रंगदारी में,कुछ लोग माफिया बनने में तो कुछ लोग अन्य अमानवीय कृत्यों को करने में कर रहे हैं।मुफ्त में मिली चीज़ की कद्र आसानी से समझ मे नही आती न। गुलाम भारत माता को आज़ाद कराने के लिए लोग क्या क्या और किस किस तरीके से काम कर रहे थे,बताने की जरूरत नही है।सिर्फ इतना जान लीजिए उस समय स्वतंत्रता सबसे प्यारी चीज थी और जान माल कम। कुछ लोग अंग्रेजो से नरम रवैया अपनाकर भारत छोड़ने को बोल रहे थे तो कुछ लोग अंग्रेजो से सख्ती और हिंसा से निपटने में विस्वास रखते थे।जिन्हें क्रमशः नरम दल और गरम दल कहा जाता था।कुछ लोग भारत मे रहकर अंग्रेजो से मुकाबला कर रहे थे तो कुछ लोग विदेशों में रहकर।

One liner gk series 2.upsc pre hunter series.

One liner gk series 2 upsc pre hunter series. One liner gk का दूसरा सीरीज one liner gk 2 आज आपके सामने है।इस सीरीज में दिए गए प्रश्नों का स्तर आसान है और आरंभ में इन्हें याद करना आवश्यक है। किसी भी परीक्षा के लिए वनलाइनर (oneliner gk) कितना आवश्यक है यह कहने की आवश्यकता नही है।इसी को ध्यान में रखते हुए हम लेकर आये हैं वनलाइनर प्रश्नों की एक पूरी सीरीज।इस सीरीज के प्रत्येक सेट में 10 प्रश्न होंगे।10 इसलिए कि न तो यह बहुत ज्यादा है और न ही बहुत कम।इन प्रश्नों में विभिन्न परीक्षाओं में पूछे जा चुके और संभावित प्रश्नों का समावेश किया गया है। One liner gk question,one liner gk in hindi,one liner gk in hindi pdf,one liner ssc gk,ssc gk questions in hindi प्रश्न सभी विषय के होंगे ताकि एक ही विषय से आपको बोरियत भी महसूस न हो और सभी विषय के प्रश्नों का अभ्यास भी हो जाए।कुछ दिनों में आप खुद महसूस करेंगे कि आपकी gk की समझ बढ़ गयी है। एक बात और ध्यान में रखें कि प्रत्येक विषय के विभिन्न टॉपिक को विस्तार से भी हमने इस वेबसाइट पर कवर किया है।विस्तार से किसी टॉपिक के बारे में जानकारी के लिए आप इस वेबस

One liner gk series 1.upsc pre hunter series.

One liner gk series 1.complete coverage for upsc pre,state pcs,ssc,railway,state ssc,fci and other exams. किसी भी परीक्षा के लिए वनलाइनर (oneliner gk) कितना आवश्यक है यह कहने की आवश्यकता नही है।इसी को ध्यान में रखते हुए हम लेकर आये हैं वनलाइनर प्रश्नों की एक पूरी सीरीज।इस सीरीज के प्रत्येक सेट में 10 प्रश्न होंगे।10 इसलिए कि न तो यह बहुत ज्यादा है और न ही बहुत कम।इन प्रश्नों में विभिन्न परीक्षाओं में पूछे जा चुके और संभावित प्रश्नों का समावेश किया गया है। One liner gk question,one liner gk in hindi,one liner gk in hindi pdf,one liner ssc gk,ssc gk questions in hindi प्रश्न सभी विषय के होंगे ताकि एक ही विषय से आपको बोरियत भी महसूस न हो और सभी विषय के प्रश्नों का अभ्यास भी हो जाए।कुछ दिनों में आप खुद महसूस करेंगे कि आपकी gk की समझ बढ़ गयी है। एक बात और ध्यान में रखें कि प्रत्येक विषय के विभिन्न टॉपिक को विस्तार से भी हमने इस वेबसाइट पर कवर किया है।विस्तार से किसी टॉपिक के बारे में जानकारी के लिए आप इस वेबसाइट www.fullstudys.com  को अवश्य चेक करें। चूंकि यह एक लाइन का प्रश्न है अतः इस प्रश

Ssc vocabulary 5

Ssc vocabulary 5. A one stop complete vocabulary series for every exam. दोस्तों  आज दोस्तों आज हम ssc vocabulary,general completion vocabulary के अगले भाग को देखने जा रहे हैं।ssc vocabulary के इस सीरीज में 10 अति महत्वपूर्ण word दिए गए हैं।ये words विभिन्न समाचारपत्रों से लिये गए है,पिछले परीक्षाओं में पूछे गए हैं तथा आगे भी पूछे जाने की संभावना है। सारे words का अर्थ पहले हिंदी में दिया गया है और समझने और याद रखने में आसानी के लिए उनका sentense में भी प्रयोग किया गया है। और अधिक words के लिए इस सीरीज के आगे तथा पीछे के भाग को देखें और नियमित रूप से इस वेबसाइट को विजिट करें। धन्यवाद। EPITOME : -प्रतीक: -Dog is the epitome of faith on earth. That person is epitome of good citizen. REPUGNANT: - प्रतिकूल, विरुद्ध :-Your attitude toward labour bill is totally repugnant. Fish was repugnant to me during illness. USURP : - हड़पना,बिना अधिकार के प्राप्त करना: - The king tried to usurp the kingdom of neighbor state. His ultimate goal is to usurp that govt land which seems impossible. RAMPANT: -

जापान के लोगो का जीवन कैसा होता है?How is life in Japan?

जापान के बारे में रोचक तथ्य।(interesting fact about japan) मान लीजिए भारत मे आपका पर्स जेब से कही गिर गया।इस पर्स में मान लीजिये 1000 रुपये रखे थे।आपका मोबाइल नंबर भी पर्स पर लिखा था।अब आपको क्या लगता है उसी रास्ते मे पर्स को आप खोजेंगे तो क्या पर्स मिल जाएगा?क्या आपके मोबाइल नंबर पर कोई फोन करके पर्स वापस करेगा।90% चांस है आप उस पर्स को वापस नही ले पाएंगे।अगर वापस ले लिया तो यह आपके लिए बहुत बड़ी बात होगी। लेकिन इसी धरती पर एक ऐसा भी देश है जहाँ न सिर्फ आपको आपका पर्स मिल जाएगा बल्कि लौटने वाला खुद दुखी होगा कि आप इतने देर बिना पर्स के कैसे चीज़े खरीद रहे होंगे। शायद आप विस्वास करना नही चाह रहे होंगे।और यदि ऊपर से आपको यह कह दिया जाए कि उस देश ने प्रथम और द्वितीय विश्वयुद्ध में भयंकर आतंक मचा रखा था,चीनियों को बेहद क्रूर तरीके से आतंकित कर रखा था,रूस जैसे विशाल देश को भी युद्ध मे शिकस्त दिया था और खुद ने तो परमाणु हमला भी झेला था तो आप यही सोचेंगे तो ऐसा देश तो बदले की आग में झुलस रहा होगा,ऐसा देश मे आज भी आतंक और अराजकता का राज होगा।लेकिन ऐसा बिल्कुल नही है।आप समझ तो गए ही होंगे किस दे

हनुमान चालीसा।HANUMAN CHALISA.

      जय श्री राम।जय हनुमान। श्री हनुमान चालीसा महाबली हनुमान के महिमा और हनुमान जी की राम जी के प्रति भक्ति का वर्णन करता है।यह ऐसा पाठ है जिसे लगभग सारे हिंदू घरो में कभी न कभी गाया गया होगा।आम  लोग जो भारतीय हिंदु धर्म के ज्ञाता नही है,वो भी हनुमान चालीसा को याद रखते हैं और नित्य स्नान के बाद पाठ करते हैं। आपको बता दें कि हनुमान चालीसा की रचना तुलसीदास जी ने किया था।आप ध्यान देंगे तो पाएंगे कि तुलसीदास जी ने आखिरी चौपाई में अपना नाम भी शामिल किया है। तुलसीदास जी का जन्म 1497 ईस्वी में हुआ था और 1623 ईस्वी अर्थात 126 वर्ष तक इस धरा पर ज्ञान और भक्ति का सागर बहाने के बाद इस धरा से चले गए। इस धरती को अलविदा कहने के पूर्व इन्होंने श्री हनुमान जी की मदद से अप्रत्यक्ष रूप से  श्रीरामचंद्र जी से भी मुलाकात किया था। आज हम आपको हनुमान चालीसा का दोहा और चौपाई दे रहे हैं।संभव हो तो आप याद कर ले।कुछ दिन के बाद ही आप चौपाई को खुद से भी गाने लगेंगे।आपमे हनुमान जी की कृपा से एक अलग तरह का आत्मविश्वास उतपन्न हो जाएगा। तो आइए शुरू करते हैं अति शुभ हनुमान चालीसा। एक बात और,हनुमान चालीसा लिखने में बहु

खिलजी वंस।khilji dynasty.

अल्लाउद्दीन खिलजी ।  दिल्ली सल्तनत में गुलाम वंस के बाद खिलजी वंस आता है। सल्तनत काल का पहला वंस गुलाम वंस था जिसकी स्थापना 1206 में कुतुबुद्दीन ऐबक ने किया था।खिलजी वंस का शासन काल 1290 से 1320 तक रहा। खिलजी वंस का संस्थापक अलाउद्दीन खिलजी के बचपन का नाम अली गुरस्सप था। यह दिल्ली सल्तनत में खिलजी वंस का सबसे शक्तिशाली शासक था।अलाउद्दीन खिलजी प्रथम सल्तनत काल का शासक था जिसने दक्षिण भारत के क्षेत्र को जीतने का प्रयास किया। यह पहला सल्तनत काल का सुल्तान था जिसने विन्ध्य पर्वत श्रृंखला को पार करके दक्षिण भारत मे विजय अभियान चलाया। इसने दक्षिण भारत में देवगिरी के  राजा रामचंद्र को 1296 में पराजित किया। दक्षिण भारत का यह अभियान इसने सुल्तान जलालुद्दीन से छुपा कर चलाया ताकि देवगिरी से प्राप्त धन के बल पर यह जलालुद्दीन से मुकाबला कर उसके स्थान पर शासक बन सके। जलालुद्दीन कौन था।यह कहाँ से बीच मे आ गया? इसके बारे में भी हम बात करेंगे।फिलहाल इतना जान लेना आवश्यक है कि खिलजी वंस का संस्थापक जलालुद्दीन खिलजी ही था जिसने गुलाम वंस के अंतिम शासक कैयुमर्स को मार डाला और 70 साल के उम्र में शासक बन ग

Ssc Vocabulary 4.A one stop complete vocabulary series.

Ssc vocabulary 4.A one stop complete vocabulary series for every exam. आज हम ssc vocabulary सीरीज का नया पोस्ट देख रहे हैं।हर पोस्ट में 10 important वर्ड दिए जा रहे हैं।10 वर्ड न ज्यादा है और न ही कम।इन word में पूर्व की परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों को भी शामिल किया गया है। सारे वर्ड अच्छे से समझ आ जाये इसलिए सभी वर्ड को sentence में भी इस्तेमाल किया गया है। ध्यान देने वाली बात यह  है कि सेंटेंस को सिर्फ वर्ड का अर्थ समझने के लिए लिखा गया है,अतः आपसे अनुरोध है कि सेंटेंस में छोटे-छोटे grametical error को ignore करें। हमे और भी खुशी होगी जब आप इस error को सुधारने के लिए हमे कमेंट करेंगे। AMBITIOUS :-महत्वाकांक्षी, धुनि:- The school was started by an ambitious teacher. INTRIGUE :- साजिश, कुचक्र - The organization suffered loss due to internal intrigue. TRAIT: - खासियत, विशेषता :- This single trait makes this design loveable to all. SUBSIDENCE:- घटाव,उतार :- Due to extreme hot,virus cases may come to subsidence. BOOTY :-लूट का माल:- Police raided dacoits when they were hiding booty. MALI

कम्युनल अवार्ड और पूना पैक्ट।communal award and poona pact.

कम्युनल अवार्ड और पूना पैक्ट(communal award and Poona pact) एक तरफ भारतीय अंग्रेजो से शासन में भागीदारी की मांग कर रहे थे और करना भी चाहिये,भाई मेरा देश है,मेरे लोग हैं फिर तुम कौन होते हो इंग्लैंड से आकर हमारे उपर शासन करने वाले।शासन में हमे भी भागीदारी चाहिए।तो दूसरी तरफ अंग्रेज तो भारतियों को बांटने में ही लगे हुए थे। उदाहरण के लिए 1909 के मार्ले मिंटो सुधार के द्वारा केंद्र(वर्तमान के संसद के समतुल्य)और राज्य (वर्तमान में राज्य विधानमंडल के समतुल्य)में जो भारतीय प्रतिनिधि होते थे उन्हें भारतीय प्रतिनिधि के स्थान पर बड़ी चालाकी से हिन्दू प्रतिनिधि और मुस्लिम प्रतिनिधि बना दिया गया।अब हिन्दू प्रतिनिधि को हिन्दू और मुस्लिम प्रतिनिधि को मुस्लिम ही चुन सकते थे। 1919 में बात और आगे बढ़ गयी।इसमे हिन्दू और मुस्लिम के अलावे सिख,इसाई, आंग्ल भारतीय और यूरोपियन को को भी अलग प्रतिनिधित्व दे दिया गया। चलो इतना तो फिर भी ठीक है।सारे धर्म के लोगो को प्रतिनिधित्व मिलना चाहिए।लेकिन तब क्या होगा जब किसी एक धर्म के जातियों को भी अलग से प्रतिनिधित्व मिलने लगे।ये तो एक धर्म के लोगो को भी आपस मे तोड़ने वाली