Skip to main content

DMCA


DMCA

If we Have added some content that belong to you or your organization by mistake, We are sorry for that. We apologize for that and assure you that this wont be repeated in future. If you are rightful owner of the content used in our Website, Please mail us with your Name, Organization Name, Contact Details, Copyright infringing URL and Copyright Proof (URL or Legal Document) at Learnhin@gmail.com

I assure you that, I will remove the infringing content Within 48 Hours.

Comments

Popular posts from this blog

1857 के क्रांति के नायक।1857 movement leader in hindi

1857 के क्रांति के नायक।1857 movement leader in hindi 1857 के स्वतंत्रता संग्राम को भले ही ब्रिटिश सरकार स्वतंत्रता आंदोलन का दर्जा न दे,अपनी कमजोरी ओ छुपाने और भारतीयों के फौलादी इरादों को कमतर आंकने की कोशिश में  भले ही कितना भी तर्क या  अफवाह फैलाए, इतना तो सत्य है कि यदि उस समय भारतीयों ने जिस हौसले से जान की बाजी लगाई थी,यदि थोड़ी सी तैयारी एक मजबूत योजना बनाने पर कर लिए होते तो भारत को अगले 90 सालों यानी कि 1947 तक इंतज़ार नही करना होता। इस संग्राम की गूंज देश के विभिन्न कोनो में सुनाई दिया था और हर स्थान से इस संग्राम को दिशा और दशा देने वाले थे इनके नायक।ब्रिटिश सरकार माने या न माने,उसके अधिकारी जो उस वक्त भारत मे विद्रोह झेल रहे थे,उनके पुश्तों को आज भी 1857 याद होगा। Upsc pre में इस भाग से प्रश्न पूछा जाता है।इसके अलावे अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में भी 1857 क्रांति के नायक के बारे में पूछा जाता है। इस पोस्ट में हम सिर्फ क्रांति के नायकों को ही देखेंगे और क्रांतिकारियों के विद्रोह को दमन करने वाले ब्रिटीश व्यक्ति के बारे में अन्य पोस्ट में देखेंगे।उस पोस्ट ने हम क्रांति के नायकों

16 महाजनपद में मगध सबसे शक्तिशाली कैसे बना।

16 महाजनपद में मगध सबसे शक्तिशाली कैसे हुआ? जैसा कि हम जानते हैं 16 महाजनपद में मगध सबसे शक्तिशाली हुआ इसका  1   प्रमुख कारण था मगध की भौगोलिक स्थितिl       मगध की राजधानी राजगृह थी तथा यह उत्तर भारत में राजनीतिक गतिविधि का प्रमुख केंद्र उभर कर सामने आया l      इस की भौगोलिक स्थिति ऐसी थी कि यह लोहे और तांबे के समृद्ध भंडार के निकट अस्तित्व था  और इन भंडारों पर इसका पूर्ण नियंत्रण स्थापित था l इन धातुओं के प्रयोग से उच्च क्षमता एवं टिकाऊ वाले हथियार एवं कृषि कार्य में प्रयुक्त होने वाले यंत्रों का उत्पादन किया जा सकता था l      2   मगध साम्राज्य अति उपजाऊ गंगा के मैदान के बीच अवस्थित था यहां की समृद्ध एवं उर्वर जलोढ़ मिट्टी के कारण फसल उत्पादन काफी अधिक हुआ जिसकी वजह से मगध साम्राज्य की अर्थव्यवस्था काफी सुदृढ़ हो गई किसान भारी मात्रा में फसल का उत्पादन करते एवं उसी के अनुक्रमानुपाती वो राजा को कर दिया करते थे।       3  दक्षिण बिहार में गया के द्वारा निर्माण कार्य के लिए लकड़ी एवं सेना के लिए हाथियों की आपूर्ति की गई l मगध ऐसा पहला प्रांत था जिसने युद्ध में बड़े पैमाने पर हाथियों का

सप्तवर्षीय युद्ध। sapt varshiya yudh

सप्तवर्षीय युद्ध किनके बीच लड़ा गया था?? One liner GK UPSC PRE HUNTER SERIES के सभी पार्ट के लिए यहॉं क्लिक करें। One liner gk series 5  यहाँ क्लिक करें। One liner gk series 6  यहाँ क्लिक करें। One liner gk series 7  यहाँ क्लिक करें। One liner gk series 8  यहाँ क्लिक करें। One liner gk series 9  यहाँ क्लिक करें । सप्तवर्षीय  युद फ्रांस और इंग्लैंड के बीच विश्व के पांच महाद्वीपो में लड़ा गया था। जैसे कि अफ्रीका के पश्चिमी तट पर,एशिया में भारत में, उतरी अमेरिका में,यूरोप में,दक्षिण अमेरिका के कुछ कैरेबियाई देशों में। इस युद्ध की व्यापकता को देखते हुए इसे प्रथम विश्व युद्ध भी कहा जाता है। सप्तवर्षीय युद्ध 1756-63 यानी कि 7 सालों तक लड़ा गया था।इसीलिए इसे सप्त वर्षीय युद्ध कहा जाता है। उत्तरी अमेरिका में यह युद्ध क्यों लड़ा गया? सबसे पहले बात करते हैं,उतरी अमेरिका की।उत्तरी अमेरिका में ब्रिटेन के 13 उपनिवेश थे। ये सारे उपनिवेश उतरी अमेरिका के पूर्वी तट पर अटलांटिक महासागर से लगे थे। इसी क्षेत्र का एक भाग था ओहयो नदी घाटी जो कि तम्बाकू उत्पादन के लिए प्रसिद्ध था। इंग्लैंड इसी क्षेत्र पर अधिकार